Skip to Content

पाकिस्तान ने सिर्फ 48 घंटे में ही क्यों फैसला ले लिया पायलट को छोड़ने का, पढ़िए असली कारण

पाकिस्तान ने सिर्फ 48 घंटे में ही क्यों फैसला ले लिया पायलट को छोड़ने का, पढ़िए असली कारण

Closed
by March 1, 2019 News

पाकिस्तान ने भारतीय वायु सेना के पायलट अभिनंदन को रिहा करने का फैसला किया है, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान की संसद में ये जानकारी दी, दरअसल भारत और पाकिस्तान के बीच में तनाव की स्थिति होने के कारण पाकिस्तान भारत के एक पायलट को बंधक बनाने में सफल हो गया था, लेकिन भारत के कड़े रुख के सामने उसको पायलट अभिनंदन को छोड़ना पड़ा।

दरअसल भारत की ओर से पायलट अभिनंदन को रिहा करने की मांग की गई और कहा गया कि अभिनंदन उस ऑपरेशन में शामिल था जिसमें भारत की पाकिस्तान में की गई आतंक विरोधी कार्रवाई पर पाकिस्तानी आक्रामक रुख के चलते पाकिस्तानी लड़ाकू जहाज भारतीय इलाके में आ गए थे। भारतीय विदेश मंत्रालय के सूत्रों की ओर से मीडिया में बताया गया कि भारत पाकिस्तान की ओर से आतंकवाद को लेकर निर्णायक कार्रवाई चाहता है वहीं अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी लगातार पाकिस्तान पर दबाव बना रहा था। जिनेवा समझौते के तहत भी पायलट अभिनंदन जैसे युद्ध बंदी को बंधक बनाने वाले देश ज्यादा दिन उसे अपने पास नहीं रख सकते।

पुलवामा में बस में आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तानी आतंकी ठिकानों पर हवाई हमले किए थे, जवाब में पाकिस्तानी लड़ाकू जहाजों ने भारतीय इलाकों पर बमबारी करने की कोशिश की, जिसके जवाब में एक पाकिस्तानी लड़ाकू विमान को गिराया गया और एक भारतीय विमान पाकिस्तानी इलाके में क्रैश हो गया, जिसके पायलट को पाकिस्तान ने बंधक बना लिया था।

वरिष्ठ भारतीय टीवी पत्रकार चंदशेखर जोशी का मानना है कि इस वक्त भारत, आतंकवाद को लेकर और पाकिस्तान के रुख को लेकर निर्णायक जंग लड़ने के मूड में है, इसलिए पाकिस्तान का आतंकी गतिविधियां और मसूद अजहर जैसे लोगों पर कोई निर्णायक कदम ही वर्तमान तनाव को दूर कर सकता है। इस समय भारत पूरी दुनिया को अपनी ताकत दिखाने और आतंकवाद पर पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बनाने में पूरी तरह सफल रहा है।

एक तरफ जहां पाकिस्तान अभिनंदन को रिहा कर रहा है वहीं दूसरी तरफ भारत-पाकिस्तान सीमा पर लगाता युद्ध विराम उल्लंघन कर रहा है, ऐसे में अब देखना होगा कि भारत-पाकिस्तान के रिश्ते आगे किस ओर जाते हैं।

( उत्तराखंड के नंबर वन न्यूज़ और व्यूज़ पोर्टल से जुड़ी खबरें पाने के लिए नीचे लाइक बटन को क्लिक करें )

Mirror News

Previous
Next