Skip to Content

बदरीनाथ धाम में ईद की नमाज पढ़ने का आरोप, मंत्री को ज्ञापन देकर जांच की मांग

बदरीनाथ धाम में ईद की नमाज पढ़ने का आरोप, मंत्री को ज्ञापन देकर जांच की मांग

Closed
by July 21, 2021 News

बदरीनाथ/जोशीमठ। भू-वैकुंठ धाम श्री बदरीनाथ में ईद की नमाज अता किये जाने का आरोप लगाते हुए हिन्दू संगठनों में भारी आक्रोष है। हिंदूवादी संगठनों ने जिले के प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज से भेंट कर तत्काल कार्यवाही करने की मांग की है। बद्रीनाथ धाम में ईद पर नमाज पढ़े जाने की सूचना पर बद्रीनाथ में भी उबाल है। तीर्थ पुरोहित, हकहकूकधारी समाज व महिलाओं ने थाना बद्रीनाथ पहुंचकर भारी आक्रोष व्यक्त किया, दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की।

सनातन धर्म की पवित्र स्थली विश्व के सर्वश्रेष्ठ धाम बदरीनाथ के इतिहास में पहली बार नमाज अता किए जाने की सूचना मिलने पर पूरे क्षेत्र में भारी आक्रोष देखा जा रहा है। विहिप को इसकी जानकारी मिलते ही विहिप पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय गोपेश्वर पहुंचकर प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज के साथ ही डीएम व पुलिस अधीक्षक से भेंट कर सनातन आस्था के प्रतीक भगवान बदरीविशाल की धरती पर इस प्रकार दुस्साहस करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग की। वहीं चमोली के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने कहा कि श्रमिकों ने नमाज न तो सार्वजनिक स्थल पर पढ़ी और न ही किसी तरह के लाउडस्पीकर का इस्तेमाल किया, न ही किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है, लेकिन एक ही कमरे में एकत्र होकर शारीरिक दूरी के मानकों का उल्लंघन किया, इसीलिए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि ये सभी मजदूर यहां आस्था पथ और दूसरे निर्माण कार्य में लगे थे।

विहिप द्वारा प्रभारी मंत्री को दिए गए ज्ञापन मे आरोप लगाया गया है कि हिन्दुओं के पवित्र धार्मिक स्थल श्री बदरीनाथ में अन्य धर्म के लोगो द्वारा जानबूझ कर नमाज पढी गई और संदेह है कि बकराईद होने के कारण संभवत: बकरे का हलाल भी किया गया हो। कहा गया है कि बदरीनाथ धाम में इस प्रकार के कृत्य किए जाने से करोड़ों हिन्दुओ की भावनाएं आहत हुई हैं, ज्ञापन में कहा गया है कि श्री बदरीनाथ धाम में मांस, मदिरा के साथ ही अन्य धर्म व संप्रदाय के धार्मिक क्रियाकलपों पर भी प्रतिबन्ध है, बावजूद इसके नमाज पढी गई जिससे समस्त हिन्दु समाज में आक्रोष ब्याप्त है। ज्ञापन में तत्काल संज्ञान लेते हुए इस प्रकार के कुकृत्य करने वाले असमाजिक तत्वों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की मांग की गई। विहिप के प्रान्त सदस्य अतुल साह ने बताया कि उनका प्रतिनिधिमण्डल इस मामले को लेकर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से भी मिला, पुलिस अधीक्षक ने बदरीनाथ थाना प्रभारी को तत्काल मुकदमा पंजीकृत करते हुए कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।

प्रभारी मंत्री को ज्ञापन देने वालों में विहिप के जिलाध्यक्ष राकेश मैठाणी, विभाग अध्यक्ष देवी प्रसाद देवली, विहिप के प्रान्त कार्यकारणी सदस्य अतुल साह, विभाग मंत्री पवन राठौर व संपर्क प्रमुख शंभू प्रसाद पन्त शामिल थे। इधर श्री बदरीनाथ धाम में नमाज पढ़े जाने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। बदरीनाथ ब्यापार संघ के अध्यक्ष विनोद नवानी के अनुसार आस्था पथ पर निर्माणाधीन पार्किंग/वेटिंग हॉल में नमाज पढ़े जाने की सूचना है, जिसमें काफी संख्या में नमाजी मौजूद थे, यह सरासर गलत है। डिमरी धार्मिक केन्द्रीय पंचायत के कार्यकारी अध्यक्ष विनोद डिमरी ने भी श्री बदरीनाथ धाम मे नमाज पढ़े जाने पर गहरी आपत्ति जताते हुए आवश्यक कार्यवाही की अपेक्षा की है। चारधाम तीर्थपुरोहित हकहकूकधारी महापंचायत के महामंत्री हरीश डिमरी ने कहा कि सनातन धर्म के आस्था के प्रतीक श्री बदरीनाथ धाम में पहली बार नमाज पढ़े जाने की सूचना पर बहुत दूख व अफसोस हुआ है। इस प्रकार का दुस्साहस करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए। दूसरी ओर बदरीनाथ के थाना प्रभारी सतेन्द्र सिंह के अनुसार यहां विभिन्न निर्माण कार्यों में लगे मजदूरों द्वारा अपने-अपने कमरों में नमाज पढ़ने की सूचनाएं मिली हैं। उन्होंने बताया कि मुकदमा पंजीकृत किए जाने के निर्देश प्राप्त हुए हैं, आवश्यक जांच कर मुकदमा पंजीकृत किए जाने की कार्यवाही की जा रही है।

अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित उत्तराखंड के समाचारों का एकमात्र गूगल एप फोलो करने के लिए क्लिक करें…. Mirror Uttarakhand News

( उत्तराखंड की नंबर वन न्यूज, व्यूज, राजनीति और समसामयिक विषयों की वेबसाइट मिरर उत्तराखंड डॉट कॉम से जुड़ने और इसके लगातार अपडेट पाने के लिए नीचे लाइक बटन को क्लिक करें)

Previous
Next
Loading...