Skip to Content

Uttarakhand बादल फटने और अतिवृष्टि के कारण 3 जिलों में मची तबाही, ग्रामीणों के साथ स्थानीय प्रशासन राहत कार्य में जुटा

Uttarakhand बादल फटने और अतिवृष्टि के कारण 3 जिलों में मची तबाही, ग्रामीणों के साथ स्थानीय प्रशासन राहत कार्य में जुटा

Closed
by May 3, 2021 News

रुद्रप्रयाग जनपद के खांकरा, फतेहपुर, गैरसारी, कोटली सहित विभिन्न हिस्सों में बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार भरदार क्षेत्र के कोटली गांव में बादल फटने से कई घरों में मलबा घुस गया है। गांव के खेत-खलिहान और पैदल रास्ते तबाह हो गए हैं। स्थानीय ग्रामीण राहत-बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। वहीं बच्छणस्यूं पट्टी के खांकरा-फतेहपुर में भी बादल फटने से तबाही मची है। जिससे खांकरा-कांडई मोटरमार्ग बाधित हो गया है। नरकोटा के पास राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित हो गया है। वहीं एक ढाबे के मलबे में दबने की सूचना है। बच्छणस्यूं पट्टी के गैरसारी में भी भारी बारिश से ग्रामीणों के घरों में मलबा घुस गया है। यहां सड़क की ढलान से पानी गांव में घुस रहा है। लोगों के खेत-खलिहान को भारी नुकसान हुआ है। 

उत्तरकाशी में चिन्यालीसौड़ तहसील के कुमराडा गांव में अतिवृष्टि के कारण बाढ़ जैसी स्थिति बन गई, अतिवृष्टि की वजह से नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। बारिश का पानी घरों में घुस गया है, इस दौरान तीन मवेशियों के बहने की सूचना है।

वहीं टिहरी जनपद के विकासखंड जौनपुर के ग्राम पंचायत बाण्डाचक के कण्डाल गांव के ऊपर जंगल में बादल फटने की सूचना मिली है। बादल फटने से सड़क, पेयजल लाइन और कई सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। सड़क किनारे खड़े कुछ दुपहिया वाहनों के भी बहने की सूचना प्राप्त हुई है, पानी के तेज बहाव से खेती को भी काफी नुकसान पहुंचा है। इन सभी जगहों पर ग्रामीणों ने स्थानीय प्रशासन को सूचित कर दिया है, कुछ इलाकों में प्रशासन पहुंच चुका है और कुछ जगह पर पहुंचने की कोशिश की जा रही है। अभी तक किसी तरह के इंसानी जान के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित उत्तराखंड के समाचारों का एकमात्र गूगल एप फोलो करने के लिए क्लिक करें…. Mirror Uttarakhand News

( उत्तराखंड की नंबर वन न्यूज, व्यूज, राजनीति और समसामयिक विषयों की वेबसाइट मिरर उत्तराखंड डॉट कॉम से जुड़ने और इसके लगातार अपडेट पाने के लिए नीचे लाइक बटन को क्लिक करें)

Previous
Next
Loading...