Skip to Content

Nainital टिफिन टॉप की पहाड़ी से गिर रहे हैं पत्थर, वैज्ञानिकों और जिलाधिकारी ने किया मुआयना

Nainital टिफिन टॉप की पहाड़ी से गिर रहे हैं पत्थर, वैज्ञानिकों और जिलाधिकारी ने किया मुआयना

Closed
by September 7, 2020 All, News

नैनिताल के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल टिफिन टॉप की पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं, टिफिन टाॅप की पहाड़ी से पत्थर गिरने की जानकारी का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी सविन बंसल ने सोमवार को भू-वैज्ञानिक एवं प्रशासनिक अमले के साथ पहुॅचकर मौका मुआयना किया। जिलाधिकारी बंसल सोमवार को लवर्स प्वांइट से लगभग 2 किमी पैदल चलकर टिफिन टाॅप पहुॅचे और टिफिन टाॅप की पहाड़ी का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान पहाड़ी के सम्बन्ध में भू-वैज्ञानिक तथा स्थानीय नागरिकों से महत्वपूर्ण जानकारियाॅ ली। उन्होंने भू-वैज्ञानिक रवि नेगी को प्रशासन द्वारा एहतियात के तौर पर किये जाने हेतु आवश्यक कार्यों तथा पहाड़ी से पत्थर गिरने के संभावित कारणो की प्राथमिक सर्वे रिपोर्ट शीघ्रता से प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि प्राथमिक रिपोर्ट प्राप्त होने के पश्चात राज्य सरकार को भेजी जायेेगी और अण्डर लाइन ज्योटेक्निकल इंनवेस्टीगेशन के लिए यहां से रिपोर्ट शासन को भेजी जायेगी, और शासन से एक्सपर्ट टीम निरीक्षण करेगी तथा ट्रीटमेंट हेतु अपने सुझाव शासन से सिफारिश करेगी।निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी विनोद कुमार, भू-वैज्ञानिक रवि नेगी, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी शैलेष कुमार, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका अशोक कुमार आदि मौजूद थे।

नैनीताल में पार्किंग की समस्या

जिलाधिकारी सविन बंसल ने सामवार को शहर में स्थित मेट्रोपोल परिसर में व्यवस्थित पार्किंग निर्माण हेतु मौका मुआयना किया और सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों से पार्किंग निर्माण हेतु प्रस्तावित भावी कार्य योजना (प्रोस़पैक्टिव प्लान) कार्यों की जानकारी ली। बंसल ने लोनिवि के इंजीनियरों को निर्देश दिए कि भावी कार्य योजना में परिसर को स्थिर व व्यवस्थित पार्किंग स्थल के रूप में विकसित किया जाये तथा पार्किंग स्थल की सुन्दरता पर विशेष ध्यान दिया जाये।उन्होंने निर्देश दिए कि किसी भी दशा में काम-चलाऊ व्यवस्था नहीं की जाये। दरअसल पर्यटकों की आमद बड़ने से नैनीताल शहर में पार्किंग की समस्या विकराल रूप ले लेती है। फ्लैट्स मैदान में डीएसए पार्किंग खचाखच हो जाने के बाद प्रशासन द्वारा वैकल्पिक रूप से पार्किंग की व्यवस्था शहर से दूर करायी जाती रही हैै। पार्किंग की वैकल्पिक व्यवस्था शहर से दूर होने के कारण पर्यटकों को शहर आवागमन हेतु सटल सेवा की सहायता लेनी पड़ती है।

अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित उत्तराखंड के समाचारों का एकमात्र गूगल एप फोलो करने के लिए क्लिक करें…. Mirror Uttarakhand News

( उत्तराखंड की नंबर वन न्यूज, व्यूज, राजनीति और समसामयिक विषयों की वेबसाइट मिरर उत्तराखंड डॉट कॉम से जुड़ने और इसके लगातार अपडेट पाने के लिए नीचे लाइक बटन को क्लिक करें)

Previous
Next
Loading...
Loading...