Skip to Content

उत्तराखंड : मुंहबोली बेटी को भिटौली देने जा रही थी, रास्ते में भीषण दुर्घटना में जान चली गई

उत्तराखंड : मुंहबोली बेटी को भिटौली देने जा रही थी, रास्ते में भीषण दुर्घटना में जान चली गई

Closed
by April 5, 2019 News

उत्तराखंड में चैत के महीने में बेटियों को भिटौली देने का रिवाज है, लोग अपनी बेटियों को तो भिटौली देते ही हैं लेकिन कई लोग ऐसे हैं जो दूसरों को भी अपनी बहन – बेटी बनाकर उनको भी भिटौली देने जाते हैं । उत्तराखंड में ऐसी ही एक महिला के साथ दुर्घटना हो गई, जब वह अपनी मुंह बोली बेटी को भिटौली देने जा रही थी तो रास्ते में एक भीषण सड़क दुर्घटना में उसकी जान चली गई।

दरअसल बुधवार को पिथौरागढ़ से सवारियों को लेकर मुनस्यारी जा रही सयाना ट्रेवल्स की बोलेरो (यूके 05 टीए-1779) नाचनी से 400 मीटर आगे ऑल्टो कार से टकराने के बाद 30 मीटर गहरी खाई में गिर गई। एक महिला राजेश्वरी देवी (49) पत्नी दौलत सिंह निवासी टकाड़ी पिथौरागढ़ की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे में चालक हीरा सिंह चिराल निवासी फल्यांटी मुनस्यारी, ईश्वर सिंह (29) निवासी फल्यांटी, प्रह्लाद कोरंगा (52) और गोपाल सिंह मर्तोलिया (65) दोनों निवासी मुनस्यारी घायल हो गए थे, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

राजेश्वरी देवी के पति दौलत सिंह ठकुराठी की पहले ही मौत हो गई है। उनके दो बच्चे एक बेटी और एक बेटा है। बेटी जीवंती की शादी हो गई है जबकि बेटा बब्बू अहमदाबाद गुजरात में नौकरी करता है। अमर उजाला अखबार के अनुसार जीवंती ने मुनस्यारी निवासी किसी महिला को अपनी बहन बनाया है। राजेश्वरी देवी उसे भी अपनी बेटी की तरह ही प्यार करती थीं। बुधवार को वह इस मुंहबोली बेटी को भिटौली देने जा रही थी।  उन्होंने बाजार से मिठाई खरीदी और मुनस्यारी जा रही बोलेरो में सवार हो गईं। लेकिन नाचनी से महज 400 मीटर आगे उनकी इस दुर्घटना में मौत हो गई। 

( उत्तराखंड के नंबर वन न्यूज और व्यूज पोर्टल मिरर उत्तराखंड से जुड़ने और इसकी खबरें लगातार पाने के लिए नीचे लाइक बटन को क्लिक करें )

Mirror News

Previous
Next
Loading...
Loading...