Skip to Content

भारत में शुरू हो गया है NAFIS, अब अपराधी अपराध करके बच नहीं पाएंगे, जानिए इसके बारे में

भारत में शुरू हो गया है NAFIS, अब अपराधी अपराध करके बच नहीं पाएंगे, जानिए इसके बारे में

Closed
by August 18, 2022 All, News

18 August. 2022. New Delhi. भारत में NAFIS की शुरुआत हो गई है, अब अपराध करने वाले अपराधियों की खैर नहीं, अपराध करने के बाद अब अपराधियों का बचना काफी मुश्किल हो जाएगा! नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की ओर से विकसित किए गए NAFIS सॉफ्टवेयर की शुरुआत केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के द्वारा की गई!

NAFIS यानिकी National automated fingerprint identification system नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की ओर से विकसित किया गया एक सॉफ्टवेयर है! जैसा कि आप जानते हैं आधार कार्ड के आने के बाद देश के सभी लोगों के फिंगरप्रिंट, हाथों की छाप और आंखों की तस्वीरें एकत्रित हैं, अब नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की ओर से एक ऐसा सिस्टम विकसित किया गया है जिसमें देश के सभी लोगों और इसके अलावा देश-विदेश के कुख्यात अपराधीयों की फिंगरप्रिंट, हथेलियों और आंखों की छाप एक डाटा सिस्टम में एकत्र की गई है! इस सॉफ्टवेयर से देश की सभी पुलिस एजेंसी और सुरक्षा एजेंसियां जुड़ी हैं, ऐसे में अपराधियों के द्वारा किसी तरह का अपराध किया जाएगा तो आपराधिक स्थल से मिले निशानों से पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां तुरंत अपराधी की पहचान कर लेंगे!

इस सिस्टम का उद्घाटन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति सम्मेलन 2022 के दौरान किया! गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को नई दिल्ली में दो-दिवसीय राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति सम्मेलन 2022 का उदघाटन किया। इस सम्मेलन में गृह सचिव, Deputy NSAs, सभी राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों तथा CAPFs के पुलिस प्रमुख मौजूद थे। देश भर से 600 अधिकारी इस सम्मेलन में शामिल थे। सम्मेलन के प्रथम दिन, राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित विभिन्न विषयों पर चर्चा हुई। इसमें आतंकरोधी उपाय, कट्टरवाद, क्रिप्टो करन्सी से जुड़े मुद्दे, counter rogue drone technology और माओवादी गुटों द्वारा पेश की गई चुनौतियां भी शामिल हैं।

गृह मंत्री ने आतंकवाद पर रोक लगाने के लिए human intelligence के महत्व पर बल दिया।  साथ ही, उन्होने उभरते terror hotspots की पहचान करने हेतु जिला स्तर के पुलिस अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका को भी रेखांकित किया।

अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित उत्तराखंड के समाचारों का एकमात्र गूगल एप फोलो करने के लिए क्लिक करें…. Mirror Uttarakhand News….Facebook पर Uttarakhand Mirror से जुड़ें

( उत्तराखंड की नंबर वन न्यूज, व्यूज, राजनीति और समसामयिक विषयों की वेबसाइट मिरर उत्तराखंड डॉट कॉम से जुड़ने और इसके लगातार अपडेट पाने के लिए नीचे लाइक बटन को क्लिक करें)

Previous
Next
Loading...